न्यूट्रॉन क्या है, न्यूट्रॉन की खोज किसने की और कब की थी

रसायनिक विज्ञान या भौतिक विज्ञान में हमें परमाणु के साथ-साथ न्यूट्रॉन के बारे में भी पढ़ाया जाता है परन्तु क्या आपको पता है की Neutron Ki Khoj Kisne Ki थी, अगर नहीं तो चलिए आपको बताते हैं की न्यूट्रॉन की खोज किसने करी थी।

न्यूट्रॉन क्या है। (What is Neutron)

न्यूट्रॉन किसी भी परमाणु के नाभिक में पाया जाता है। यह एक प्रकार का अपरिवर्तित कण होता है जिसके ऊपर किसी भी प्रकार का चार्ज नहीं होता है। न्यूट्रॉन के साथ प्रोटॉन रहता है और यह दोनों मिलकर ही न्यूक्लियस बनाते हैं जिसे हम हिंदी में नाभिक कहते हैं। आवर्त सारणी में सिर्फ हाइड्रोजन के पास न्यूट्रॉन नहीं होता, बाकी सब परमाणु के बीच में न्यूट्रॉन पाया जाता है।

Neutron Ki Khoj Kisne Ki (न्यूट्रॉन की खोज किसने की थी)

न्यूट्रॉन की खोज की थी जेम्स चैडविक ने, यह एक ब्रिटिश वैज्ञानिक थे जिन्होंने सबसे पहले न्यूट्रॉन को विज्ञान में जोड़ा था। न्यूट्रॉन एक प्रकार का आवेश रहित कण होता है जिसके ऊपर किसी भी चार्ज का कोई भी प्रभाव नहीं पड़ता।

न्यूट्रॉन की खोज कब हुई

न्यूट्रॉन की खोज सन् 1932 में एक भौतिक वैज्ञानिक द्वारा की गई थी। इस कण को n से दर्शाया जाता है।

न्यूट्रॉन का द्रव्यमान

न्यूट्रॉन की द्रव्यमान की बात की जाए तो यह इलेक्ट्रॉन से काफी ज्यादा होता है, वैज्ञानिकों द्वारा बताया गया है कि न्यूट्रॉन का द्रव्यमान 1.67493x 10-²⁷ kg होता है।

न्यूट्रॉन का आविष्कार कैसे हुआ?

न्यूट्रॉन की खोज जेम्स चैडविक ने की थी पर क्या आपको पता है कि इसका आविष्कार कैसे हुआ चलिए आपको बताते हैं।

जब रदरफोर्ड प्रोटॉन का आविष्कार कर रहे थे तब उनके साथ जेम्स चैडविक भी मौजूद थे उन्होंने देखा कि प्रोटोन के साथ एक भारी आवेश रहित कण मौजूद है।

तब उन्होंने इसके ऊपर रिसर्च चालू किया, उन्होंने बेरिलियम के ऊपर अल्फा पार्टिकल का प्रहार किया और पाया कि प्रोटॉन के साथ कई विधुत कण मौजुद है जिसका नाम इन्होंने न्यूट्रॉन रखा।

न्यूट्रॉन की खोज भौतिक विज्ञान में बहुत बड़ी साबित हुई जिसके लिए जेम्स चैडविक को 1935 में भौतिक क्षेत्र में नोबेल पुरस्कार से सम्मानित किया गया।

न्यूट्रॉन का क्या उपयोग है?

न्यूट्रॉन का उपयोग कई सारे केमिकल रिएक्शन में कराया जाता है इसके साथ आज के समय में X-ray जैसे फैसिलिटी लोगों को दी की जाती है। Neutron का उपयोग परमाणु बम बनाने में भी किया जाता है और न्यूट्रॉन के अंदर से निकलने वाले रेडिएशन से कई सारे रिएक्शन विज्ञान में संभव हुए है। खास तौर पर कहा जाए तो इसका उपयोग वैज्ञानिकों द्वारा ही किया जाता है।

न्यूट्रॉन का सूत्र

न्यूट्रॉन का सूत्र या प्रतीक 0n1 होता है, यह पूरा हाइड्रोजन के बराबर माना जाता है।

न्यूट्रॉन की संख्या कैसे निकाले

नाभिक की द्रव्यमान संख्या A से दर्शाई जाती है, परमाणु की संख्या ( Z) और न्यूट्रॉन संख्या (N) के जोड़ से निकली जाती है।
यानी कि , A = Z+N

इस हिसाब से न्यूट्रॉन संख्या को निकालने के लिए द्रव्यमान संख्या से परमाणु संख्या को घटना होगा।

N = A – Z

ऐसे आप न्यूट्रॉन की संख्या आसानी से निकाल सकते हैं।

न्यूट्रॉन की संख्या कितनी होती है?

न्यूट्रॉन की संख्या अलग-अलग प्रभाव उनके लिए अलग अलग होती है। अतः हम कह सकते हैं कि न्यूक्लियर के अंदर मौजूद न्यूट्रॉन और प्रोटॉन की संख्या मिलाकर इलेक्ट्रॉन की संख्या बनती है। तो जितना परमाणु का इलेक्ट्रॉन होगा उस हिसाब से अलग-अलग न्यूट्रॉन की संख्या होगी।

ये भी पढ़े:

तो दोस्तों उम्मीद है की आपको न्यूट्रॉन की खोज से जुडी सभी जानकारी इस लेख में प्राप्त हुई होगी, यदि आपको इस लेख में साझा की हुई जानकारी सही लगी तो इस लेख को अपने दोस्तों के साथ जरूर साझा करे।

Leave a Comment