प्रेगनेंसी में केला खाने के फायदे और नुकसान, केला खाने का सही समय क्या है

प्रेगनेंसी में केला खाने के फायदे: हर महिला के लिये गर्भावस्था का समय सबसे ज़्यादा सुखद जीवन होता है क्योंकि इस समय गर्भवती महिला एक नन्ही सी जान को अपने अंदर बड़ा कर रही होती है। एक महिला को अपने बच्चे को स्वस्थ रखने के लिये खुद भी स्वस्थ रहना अति आवश्यक है ताकि उसके बच्चे को किसी भी प्रकार की स्वास्थ्य समस्याओं का समान ना करना पड़े ।

दोस्तो आज हम आपको केला नामक फल के बारे में बतायेंगे जिसके सेवन से गर्भवती महिला स्वस्थ रह सकती  है और अपने बच्चे को भी स्वस्थ रख सकती है। दोस्तो केला का सेवन करने से हमें कई प्रकार के फायदे होते है, इस लेख में हम आपको प्रेगनेंसी में केला खाने के फायदे और नुकसान के बारे में बताएंगे, इसके आलावा केला के मुख्य घटक क्या है और गर्भवती महिला को केला खाने से क्या होता है इसके बारे में भी जानकारी साझा करेंगे।

केले के घटक (Components Of Banana)

केला बाकी फलों के मुकाबले एक बहुत ही फायदेमंद और पौष्टिक तत्वों से भरा हुआ फल है। केले के अंतर्गत ऐसे बहुत से गुण पाए जाते हैं, जो कि सेहत के लिए काफी ज्यादा फायदेमंद होता है। किले में निम्नलिखित घटक मौजूद होते हैं, जो कि इसे गुणवान बनाने में मदद करता है, जैसे कि-

75% पानी, ग्लूकोस, कैल्शियम, आयरन, फास्फोरस, मैग्नीशियम, कॉपर, विटामिन A, B, C, B6, रिबोफ्लेविन, नियासिन, लैटेक्स, कार्बोहाइड्रेट, शर्करा, जैसे इत्यादि तत्व पाए जाते हैं।

प्रेगनेंसी में केला खाने के फायदे और नुकसान

प्रेगनेंसी में केला खाने के फायदे और नुकसान

केला एक ऐसा फल है, जिसमें सेहत से जुड़े हुए बहुत सारे गुण पाए जाते हैं। केला खाने से वैसे तो बहुत सारे फायदे होते हैं, परंतु इसके फायदों के साथ-साथ कुछ नुकसान भी देखने को मिलता है। तो आइए प्रेगनेंसी में केला खाने के फायदे और नुकसान के बारे में जानते हैं-

प्रेग्नेंसी में केला खाने के फायदे (Health Benefits of Banana During Pregnancy)

प्रेगनेंसी के दौरान ताजे फलों और सब्जियों का सेवन करना चाहिए, क्योंकि यह शारीरिक और मानसिक परिवर्तन के लिए बेहद ही जरूरी होता है और ऐसी अवस्था में केला खाना भी बहुत ज्यादा फायदेमंद साबित होता है।

गर्भावस्था में केला खाने के फायदे अनके हैं। तो आइए Benefits Of Banana In Pregnancy के बारे में जानते हैं:

  1. गर्भावस्था के दौरान केले खाने से मतली और उल्टी जैसी समस्याएं कम होती हैं, और इसके साथ ही साथ मॉर्निंग सिकनेस को भी कम करने में मदद मिलता है।
  2. किले में मौजूद कार्बोहाइड्रेट और शर्करा की मात्रा अधिक होने के कारण थकान महसूस होने पर एनर्जी को बढ़ाने में भी मदद करता है।
  3. केले में मौजूद आयरन के कारण गर्भावस्था के दौरान होने वाले एनीमिया की समस्या में भी मदद मिलता है।
  4. केले में मौजूद फाइबर की मात्रा गर्भावस्था के दौरान पाचन के लिए आवश्यक होता है।
  5. मौजूद पोषक तत्व गर्भावस्था के दौरान होने वाले मूड स्विंग को कम करने में मदद करता है।
  6. केला ब्लड प्रेशर को भी मेंटेन करने में मदद करता है।
  7. गर्भावस्था के दौरान बच्चे की मानसिक विकास के लिए केला एक बहुत ही अच्छा फल होता है।
  8. केला गर्भावस्था के दौरान होने वाले कब्ज की समस्या के लिए भी मददगार साबित करना है।
  9. गर्भावस्था में केला खाने से एसिडिटी के कारण होने वाले हार्ट बर्न को कम करने में मदद मिलता है।
  10. इम्यूनिटी बढ़ाने और मजबूत हड्डियों के लिए भी फायदेमंद होता है।

प्रेगनेंसी में केला खाने के नुकसान

वैसे तो केला एक बहुत ही फायदेमंद फल है, परंतु यदि किसी भी चीज का ओवर डोज लिया जाए, तो वह सेहत के लिए नुकसानदायक भी साबित हो सकता है। ठीक इसी तरह से प्रेगनेंसी के दौरान यदि केले का अधिक मात्रा में सेवन किया जाए तो यह सेहत के लिए नुकसानदायक साबित हो सकता है, जिसके बारे में आप सभी को पता होना चाहिए। तो आइए प्रेगनेंसी में केला खाने के नुकसान के बारे में जानते हैं:

  1. यदि किसी भी महिला को केले से एलर्जी है, तो वह प्रेगनेंसी के दौरान भूलकर भी केले का सेवन ना करें।
  2. प्रेगनेंसी के दौरान अधिक मात्रा में केले का सेवन ना करें। 1 दिन में कम से कम एक या दो मीडियम साइज के किले का ही सेवन करें, और जरूरत पड़ने पर डॉक्टर के सलाह पर ही केले को अपने डाइट में शामिल करें।
  3. सभी की गर्भावस्था एक जैसी नहीं होती है, और इस दौरान हर महिलाओं के शरीर की जरूरत अलग-अलग होती है। इसीलिए बिना डॉक्टर की सलाह से केले को अपने डाइट में शामिल ना करें, क्योंकि यह सेहत के लिए नुकसानदायक भी साबित हो सकता है।
  4. केले के अंतर्गत लैटेक्स नामक तत्व मौजूद होता है, तो प्रेगनेंसी के दौरान यदि अधिक मात्रा में केले का सेवन किया जाए, तो यह एलर्जी जैसी समस्याओं को पैदा कर सकता है।

ये भी पढ़े: टीएलसी बढ़ने के लक्षण

गर्भावस्था में केला खाना चाहिए या नहीं

केला बहुत सारे पोषक तत्वों से भरपूर फल है। केला गर्भावस्था के दौरान होने वाले बहुत सारी समस्याओं से छुटकारा दिलाने में मदद करता है। परंतु यदि किसी महिला को केले से एलर्जी है, तो उसे केला नहीं खाना चाहिए और इसके साथ ही साथ यदि खेले का सेवन अधिक मात्रा में किया जाए तो यह भी प्रेगनेंसी के दौरान नुकसानदायक साबित हो सकता है।

इसीलिए Pregnancy Me Kela Khana Chahiye, परंतु उसका ओवरडोज नहीं लेना चाहिए, क्योंकि किसी भी चीज को अधिक मात्रा में लेने से हमेशा नुकसान और दिक्कतों का ही सामना करना पड़ता है।

प्रेगनेंसी में केला कब खाना चाहिए?

जैसा कि हमने आपको ऊपर बताया है कि केले के अंतर्गत बहुत सारे पोषक तत्व पाए जाते हैं, जो कि सेहत के लिए काफी ज्यादा फायदेमंद होता है। गर्भावस्था में केला खाने के फायदे बहुत है। इसीलिए प्रेगनेंसी के किसी भी महीने में केले का सेवन किया जा सकता है। परंतु ध्यान रखिए कि केले का नियमित मात्रा में ही सेवन करें, क्योंकि इसका ओवरडोज शरीर के लिए नुकसानदायक भी हो सकता है।

गर्भवती महिला को केला खाने से क्या होता है?

गर्भावस्था में केला खाना बहुत ही ज्यादा फायदेमंद माना जाता है। गर्भवती महिला को केला का नियमित मात्रा खाने से ब्लड प्रेशर नियंत्रण, मजबूत इम्यून सिस्टम, मजबूत हड्डियां, एसिडिटी, कब्ज, मानसिक तनाव, एनर्जी की कमी, पाचन समस्या, इत्यादि जैसे स्वास्थ्य से संबंधित बीमारियों में काफी मदद मिलता है।

ये भी पढ़े:


Leave a Comment