Bluetooth Ka Avishkar Kisne Kiya | ब्लूटूथ के बारे में सम्पूर्ण जानकारी

ब्लूटूथ की खोज | ब्लूटूथ का आविष्कार | who invented bluetooth | ब्लूटूथ का अविष्कार कब हुआ था | Bluetooth Ka Avishkar Kisne Kiya

नमस्कार दोस्तों, ब्लूटूथ किसी भी डिवाइस का एक काफी इंपोर्टेंट पार्ट होता है, जिसकी मदद से कुछ ही मिली सेकंड के अंदर एक जगह से दूसरी जगह डाटा ट्रांसफर किया जा सकता है तथा इसके लिए किसी भी प्रकार के वायर की जरूरत नहीं होती है।

दोस्तों क्या आप जानते हैं कि ब्लूटूथ का आविष्कार किसने किया, यदि आपको इसके बारे में कोई जानकारी नहीं है, तो हम आपको इस पोस्ट के माध्यम से यह सब जानकारी देने वाले हैं।

आज की इस पोस्ट के माध्यम से हम जानने वाले हैं, कि ब्लूटूथ की खोज किसने की थी, इसके साथ में हम आपको Bluetooth Ke Avishkarak से जुड़ी सभी जानकारी इस पोस्ट के माध्यम से देने वाले हैं।

चलिए अब जानते है की ब्लूटूथ क्या है और ब्लूटूथ का आविष्कार किसने किया था (who invented bluetooth).

ब्लूटूथ क्या है ?

ब्लूटूथ एक ऐसी तकनीकी होती है जिसकी मदद से कुछ ही सेकंड के अंदर एक डिवाइस से दूसरे डिवाइस के अंदर कोई भी टाटा ट्रांसफर किया जा सकता है। ब्लूटूथ थोड़ी की रेंज के लिए काम करता है, लेकिन यह काफी तेजी से काम करता है।

इसी कारण ब्लूटूथ को आज के समय लाखों डिवाइस के अंदर इस्तेमाल किया जाता है। आज के समय लाखो डिवाइस ब्लूटूथ पर आधारित है, यदि ब्लूटूथ नहीं होता है, तो उन डिवाइस का कोई इस्तेमाल नहीं होता है।

ब्लूटूथ का आविष्कार किसने किया था ? (Bluetooth Ka Avishkar Kisne Kiya)

दोस्तों ब्लूटूथ का आविष्कार हार्टसन के द्वारा किया गया था। हार्टसन रेडियो प्रणाली पर काम करते थे तथा उसी समय उन्होंने ब्लूटूथ की खोज की थी, हार्टसन के द्वारा की गई यह खोज काफी महत्वपूर्ण थी, क्योंकि आज भी समय अनेक डिवाइस के अंदर ब्लूटूथ का इस्तेमाल किया जाता है, तथा अगर ब्लूटूथ नहीं होता तो आज के समय डिवाइस का कोई काम नहीं होता, इसलिए ब्लूटूथ की खोज एक काफी महत्वपूर्ण खोज थी।

ब्लूटूथ का अविष्कार कब हुआ था ?

ब्लूटूथ का आविष्कार हार्टसन के द्वारा किया गया था। हार्टसन ने सन 1994 के अंतर्गत ब्लूटूथ का आविष्कार किया था।

इसे भी पढ़े: मोबाइल का आविष्कार

ब्लूटूथ का इतिहास (History of Bluetooth)

ब्लूटूथ की शुरुआत 1994 में हुई थी, उस समय इसका इस्तेमाल किसी एक डिवाइस से दूर से डिवाइस में डाटा ट्रांसफर करने के लिए किया जाता था। जब ब्लूटूथ की शुरुआत हुई थी तब इससे डाटा ट्रांसफर करने में काफी समय लगता था।

जब ब्लूटूथ की खोज हुई तथा धीरे-धीरे बाद में इस पर रिसर्च शुरू हुई तो वैज्ञानिकों ने इसकी टेक्नोलॉजी को काफी एडवांस बना दिया, आज के समय ब्लूटूथ काफी फास्ट हो गया है तथा कुछ ही मिली सेकंड के अंदर एक डिवाइस से दूसरे डिवाइस के बीच डाटा ट्रांसफर कर सकते हैं।

ये भी पढ़े:

आज आपने क्या सीखा

तो दोस्तों आज आपने इस पोस्ट के माध्यम से जाना कि Bluetooth Ki Khoj Kisne Ki Thi और ब्लूटूथ का इतिहास क्या है , इसके अलावा हमने आपको इस पोस्ट के माध्यम से Bluetooth Ke Avishkarak से जुड़ी संपूर्ण जानकारी विस्तार से देने की कोशिश की है।

हमें पूरी उम्मीद है कि आपको हमारे द्वारा दी गई यह जानकारी पसंद आई होगी, इस पोस्ट को सोशल मीडिया के माध्यम से अपने तमाम दोस्तों के बीच शेयर जरूर करें तथा नीचे कमेंट में अपनी राय जरूर दें।

इसके साथ हमारी वेबसाइट पर खोज और अविष्कार से जुडी सभी पोस्ट जरूर पढ़े।

FAQs

Leave a Comment