मॉनिटर का आविष्कार किसने किया और इसका काम क्या होता है

दोस्तों क्या आप जानते है की मॉनिटर का आविष्कार किसने किया और इसका काम क्या होता है अगर नहीं तो इस लेख को अंत तक जरूर पढ़े क्योकि यहां हम मॉनिटर के बारे में विस्तार से जानकारी साझा करने वाले है।

मॉनिटर क्या है (Monitor Kya Hota Hai)

मॉनिटर एक इलेक्ट्रॉनिक आउटपुट डिवाइस होता है, जिसे विजुअल डिस्प्ले यूनिट और ग्राफिकल यूजर इंटरफेस के नाम से भी जाना जाता है। यह कंप्यूटर का एक बहुत ही महत्वपूर्ण आउटपुट डिवाइस होता है। इसके बिना कंप्यूटर सिस्टम अधूरा होता है। मॉनिटर आउटपुट डाटा को अपनी स्क्रीन पर सॉफ्ट कॉपी के रूप में प्रदर्शित करने का काम करता है।

मॉनिटर का आविष्कार किसने किया (who invented monitor)

मॉनिटर का आविष्कार सबसे पहले Karl Ferdinand Braun ने सन 1897 में किया था। इन्होंने सबसे पहला cathode ray मॉनिटर का आविष्कार किया था, इसीलिए मॉनिटर के आविष्कार का पूरा श्रेय इन्हें ही जाता है।

मॉनिटर का आविष्कार कब हुआ?

सबसे पहला कैथोड रे मॉनिटर का आविष्कार सन 1897 में Karl Ferdinand Braun किया गया था।

मॉनिटर का काम क्या होता है

मॉनिटर एक प्रकार के display adapter होता है, जिसका काम मुख्य रूप से computer के video card से तैयार किए गए सभी आउटपुट डाटा को अपनी स्क्रीन पर सॉफ्ट कॉपी के रूप में प्रदर्शित करने का होता है।

मॉनिटर के प्रकार (Types Of Monitor In Hindi)

मॉनिटर द्वारा प्रदर्शित रंगों के आधार पर यह मुख्य रूप से 3 प्रकार का होता है-

  1. Monochrome
  2. Gray-Scale
  3. Color Monitor

इसके अलावा भी आज के समय में मॉनिटर के कुछ और भी प्रकार देखने को मिलते हैं, जैसे कि-

  1. CRT Monitor
  2. Flat Panel Monitor
  3. LCD (Liquid crystal display)
  4. LED (Light emitting diode)

मॉनिटर का हिंदी नाम क्या है?

वैसे तो मॉनिटर का हिंदी नाम भी मॉनिटर ही होता है, परंतु इसे हिंदी में कंप्यूटर सूचना सामग्री प्रदर्शित करने वाला परदा कहा जा सकता है। क्योंकि यह कंप्यूटर का वह इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस होता है, जिसके परदे पर किसी प्रॉसेस को यूज़र द्वारा देखा जाता है।

ये भी पढ़े:

Leave a Comment