डीएनए की खोज किसने और कब की थी ? | DNA Ki Khoj

डीएनए की खोज किसने की | DNA Ki Khoj | DNA Ki Sanrachna

दोस्तों क्या आपको पता है की डीएनए की खोज किसने और कब की थी, अगर नहीं तो इस लेख को अंत तक जरूर पढ़े क्योकि यहां हम DNA Ki Khoj से जुडी सभी जानकारी साझा करने वाले है।

आपने देखा होगा किसी भी व्यक्ति के गुण उनके माता-पिता से मिलते है, यह सब डीएनए के कारण ही होता है। चलिए आपको बताते है डीएनए क्या होता है:-

DNA Kya Hai?

डीएनए व्यक्ति के शरीर के कोशिकाओं के Chromosome में पाया जाने वाला एक पदार्थ होता है जो व्यक्ति की पहचान के लिए जिम्मेवार होता है। यह माता पिता के अनु वंशानुगत गुण व वंशानुगत गुण को उनके बच्चों तक पहुंचाने व स्थानांतरित करता है।

DNA Ki Khoj Kisne Ki Thi (डीएनए की खोज किसने की)

डीएनए की खोज स्विजरलैंड के एक रासायन वैज्ञानिक Johannes Friedrich Miescher ने सन् 1869 को किया था।डीएनए हर व्यक्ति के अंदर मौजूद होता है और उनकी वास्तविकता को बताता है।

डीएनए एक ऐसा समूह पदार्थ है जो माता पिता के वंशानुगत गुणों को उनके संतान तक पहुंचने में जिम्मेदार होता है। शरीर में मौजूद प्रत्येक कोशिकाओं में डीएनए का समूह आवश्यक रहता है, ना केवल मानव बल्कि सभी प्रकार के जीवो में डीएनए जरूर होता है।

इससे व्यक्ति के माता पिता का पता भी चलता है। कोशिका के मिट्रोकोंड्रिया में डीएनए उपस्थित होता है। हर व्यक्ति शारीरिक व व्यहवारिक तौर से अपने माता पिता से मिलता जुलता रहता है यह सब डीएनए के कारण ही होता है।

DNA Ka Pura Naam Hindi Mein (डीएनए का पूरा नाम हिंदी में)

डीएनए की खोज के बाद वैज्ञानिक ने इसे न्यूक्लिक नाम दिया था परंतु बाद में बदल के इसका नाम deoxyribonucleic acid रखा गया। डीएनए का पूरा नाम हिंदी में डीऑक्सीराइबोन्यूक्लिक अम्ल है।

डीएनए एक स्थाई पदार्थ होता है समय के साथ यह बदलता नहीं है, एक छोटे से बच्चे में डीएनए जिस प्रकार रहता है उसी प्रकार एक वृद्ध व्यक्ति में भी डीएनए होता है किसी भी प्रकार का बदलाव उसमें समय के साथ नहीं आता।

DNA Ki Sanrachna (डीएनए की संरचना इन हिंदी)

DNA की संरचना सीढ़ी के तरह घुमावदार होती है। ज्यादातर डीएनए कोशिका के न्यूक्लियर में पाया जाता है। एक मानव शरीर में 38 लाख करोड़ से लेकर 40 लाख करोड़ तक कोशिकाएं होती है ।हर हर एक कोशिकाओं में न्यूक्लियर होता है जिसके अंदर क्रोमोसोम पाया जाता है।

प्रत्येक कोशिका में 46 क्रोमोसोम होता है 23 माता का और 23 पिता का यह मिलकर क्रोमोसोम बनाते हैं।क्रोमोसोम प्रोटीन और न्यूक्लिक एसिड से मिलकर बनता है। इसलिए डीएनए के अंदर माता और पिता के गुण स्थानांतरित हो जाते हैं। डीएनए घूमे हुए स्प्रिंग की तरह दिखता है।

DNA Sabse Pahle Kisne Dekha Tha

वैसे तो डीएनए की खोज Johannes Friedrich miescher ने किया था परंतु इसकी संरचना की खोज James Watson और Francis Crick ने किया था इसका अर्थ है कि इन्होंने ही सबसे पहले डीएनए की संरचना दिखी थी।

ये भी पढ़े:

दोस्तों उम्मीद करते है की DNA Ki Khoj से जुडी सभी जानकारी आपको इस लेख में मिल गई होगी।


Leave a Comment