2047 का भारत कैसा होगा – My Vision For India In 2047 In Hindi

दोस्तों 2047 अब ज्यादा दूर नहीं है, आपको बता दे 2047 में भारत अपना 100वीं स्वतंत्रता वर्षगांठ मनाएगा क्योकि इस वर्ष भारत को आज़ाद हुई 100 वर्ष पुरे हो जाएंगे इसलिए 2047 भारत के लिए बहुत खास होगा।

इसलिए आज के इस लेख हम जानेंगे की 2047 का भारत कैसा होगा (2047 Ka Bharat Kaisa Hoga), चलिए जानते है।

2047 का भारत कैसा होगा निबंध

2047 में भारत को आजाद हुए 100 वर्ष पूरे हो जाएंगे। 1947 से लेकर अबतक भारत ने कई उतार चढ़ावो का सामना किया है, हमने दुनिया के सबसे गरीब देश से लेकर आज दुनिया की 5वी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बनने तक का सफर किया है। ये सब पिछले 75 सालों के भीतर हुआ है लेकिन पिछले दो दशकों में हमारी अर्थव्यवस्था में तेजी से बदलाव दिखा है, ऐसे में भारत के लिए उसका 100वाँ स्वतन्त्रता दिवस अधिक महत्वपूर्णक हो जाता है।

शिक्षा में 2047 का भारत कैसा होगा

आजादी के बाद से ही पूर्व भारतीय सरकारों ने शिक्षा पर बहुत जोर दिया लेकिन संसाधनों की कमी के चलते शिक्षा पर उतना बजट नही खर्च किया गया जो पर्याप्त हो सके। लेकिन अब सरकार ने शिक्षा को प्राथमिकता दी है यही कारण है कि जहां 2011 में भारत की लिटरेसी रेट 69.30% थी, वो 7 साल बाद  2018 में 5.07%  के तीव्र सकारात्मक बदलाव के साथ 74.37% हो गई।

हालांकि यह लिटरेसी रेट अभी पर्याप्त नही है विकसित देशों के मुकाबले अभी हमे शिक्षा पर और अधिक काम करना होगा। शिक्षा किसी भी राष्ट्र के विकास के लिए मूलभूत आवश्यकता है इसलिए भारतीय सरकारों को इस पर खास ध्यान देने की जरूरत है। यदि हम शिक्षा ज्यादा ध्यान देंगे तो 2047 तक भारत का लिटरेसी रेट 90% से ऊपर होगा

आंतरिक तथा बाहरी सुरक्षा

आज भारत जिन पड़ोसियो के साथ अपनी सीमा साझा करता है वो दोनों ही देश भारत को आगे बढ़ना नही देखना चाहते इसीलिए आये दिन आतंकवादी हमले करवाकर भारत की आंतरिक शांति को भंग करते रहते है।

लेकिन भारतीय सेना दुश्मनों को सीमा पर मुहतोड़ जवाब दे रही है। वही SIPRI (Stockholm International Peace Research Institute) के मुताबिक भारत का रक्षा बजट दुनिया मे तीसरे स्थान पर है।

जहां भारत पहले सिर्फ हथियारों का आयात करता था वही पिछले 10 सालों में भारत का हथियार निर्यात 6% के साथ बढ़ा है। रिपोर्ट्स के मुताबिक भारत 2047 तक भारत दूसरी महाशक्ति होगा और कोई भी देश भारत की आंतरिक शांति को भंग नहीं कर पाएगा।

महिला शसक्तीकरण में 2047 का भारत कैसा होगा

किसी भी देश के विकास के लिए महिलाओं को पुरुषों की भांति हर क्षेत्र में भागीदारी देना आवश्यक होता है। लेकिन भारत मे हमेशा से और आज भी जेंडर के नाम पर भेदभाव देखने को मिलता है, लड़कियों को उच्च शिक्षा मुहैया नही कराई जाती यही कारण है कि महिलाओ का शैक्षिक दर पुरुषों से हमेशा कम रहा है।

लेकिन 2047 तक हमे समाज की इस मानसिकता को बदलना होगा कि महिलाएं सिर्फ घर का कार्य कर सकती है और महिला शशक्तिकरण पर प्रभावी तरीके से काम करना होगा। यदि हम इस मानसिकता को बदल देते है तो निश्चित 2047 का भारत शक्तिशाली और निडर होगा।

भ्रस्टाचार

भ्रस्टाचार किसी दीमक की भांति हमारे देश को धीरे धीरे खोखला कर रहा है। आज भारत उन देशों में शामिल है जहां भ्रस्टाचार सबसे ज्यादा होता है। भ्रस्टाचार की वजह से विदेशी निवेश काफी हद तक प्रभावित होता है।

लेकिन आज के दौर में डिजिटलआईजेशन ने प्रभावी तरीके से भ्रस्टाचार को कम करने का काम किया है। ज्यादा सम्भावनाये है 2047 तक भारत मे भ्रस्टाचार अपनी आखिरी सांसे ले रहा होगा।

ये भी पढ़े: भारत में कितने राज्य है

विश्व महाशक्ति

हाल ही में वाइटहाउस ने कहा है कि भारत सिर्फ अमेरिका का सहयोगी ही नही दुनिया की एक और महाशक्ति है। वाइट हाउस का ये कहना भी सही है भारत ने पिछले दशक जिस तरह से अर्थव्यवस्था, रक्षाक्षेत्र और अनुसंधना पर कार्य किया है निश्चित हो प्रशंसनीय है।

इसके अलावा भारत ने अंतरराष्ट्रीय स्तर पर अपनी कूटनीति का शानदार प्रदर्शन कर कई देशों को चित्त कर दिया है। 2047 तक भारत एक विश्वमहाशक्ति होगा इसमें कोई संदेह नही रह जाता।

रोजगार

भारत के विकास में सबसे बड़ी बाधा बेरोजगारी है। सरकार को इसपर विशेष ध्यान देने की जरूरत है। यदि हम सभी पढ़ाई और नौकरी के साथ स्किल पर ध्यान देने लगे तो देश की सबसे बड़ी समस्या बेरोजगारी का अंत होने में अधिक समय नही लगेगा।

भारत मे सबसे अधिक युवा है, 50% की ऐसी आबादी है जो 26 वर्ष की उम्र से कम है। आज ये पोटेंशियल बेरोजगारी के चलते बर्बाद हो रहा है। लेकिन यह भी कहना गलत नहीं होगा अगर भारत भ्रस्टाचार को खत्म कर विकास कर ध्यान देगा तो बेरोजगारी भी 2047 आते आते खत्म जो जाएगी।

औद्योगिकरण और आत्मनिर्भरता

जबसे भारतीय सरकार ने ‘आत्मनिर्भर भारत अभियान‘ की शुरुआत की है उसके बाद से ही भारत मे औद्योगिकरण में काफी विकास देखने को मिल रहा है।

जिसके चलते भारत में जिन चीजों का आयातक हुआ करता था वो आज उन चीजों का निर्यात कर रहा है। युवा पीढ़ी नए नए स्टार्टअप खोल रहे है आज भारत मे 70000 से अधिक स्टार्टअप रन कर रहे है और 2047 तक मेरा अनुमान है हमारे देश मे सबसे अधिक स्टार्टअप होंगे।

उपसंहार (My Vision For India In 2047 In Hindi)

यदि भारत भ्रस्टाचार और जनसंख्या नियंत्रण पर काबू पा ले तो 2047 का भारत आज के भारत से बिल्कुल अलग होगा। इसके अलावा यदि हम सभी नागरिकों को मिलकर 2047 तक भारत में व्याप्त गरीबी, बेरोजगारी, कुपोषण, भ्रष्टाचार और अन्य सामाजिक बुराइयों से मुक्त कर दिया तो निश्चित ही भारत विकसित देशों के समूह में शामिल हो जाएगा।

ये भी पढ़े:

तो इस लेख में हमने जाना की 2047 Mein Hamara Bharat Kaisa Hoga, अगर आपको इस लेख में साझा की गई जानकारी पसंद आई हो तो इसे अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें और हमें सोशल मीडिया पर भी फॉलो करें।


Leave a Comment